‘एयर इंडिया के निजीकरण से हज सेवा पर असर पड़ेगा’

नई दिल्ली: केंद्र सरकार की एक समिति ने कहा है कि एयर इंडिया के निजीकरण से हज सेवाओं के परिचालन पर गंभीर प्रभाव पड़ेगा.  उसने अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय एवं नागर विमानन मंत्रालय को यह सुझाव दिया कि अगर प्रस्तावित विनिवेश को लेकर आगे बढ़ा जाता है तो वे अपनी योजना तैयार रखें.

‘हज नीति 2018-22’ तैयार करने के लिए गठित समिति ने यह भी सुझाव दिया कि हज के लिए उड़ानों के लिए वैश्विक निविदा प्रक्रिया के विकल्प को लेकर सऊदी अरब सरकार से बातचीत की जाए.

पूर्व आईएएस अधिकारी अफजल अमानुल्ला इस समिति के संयोजक थे. समिति ने इसका भी संज्ञान लिया है कि हज यात्रियों को लेकर जाने वाले विमान वापसी में खाली आते हैं. समिति ने कहा है कि विमानों में परोसे जाने वाले भोजन बिना मसाले का होना चाहिए और हज यात्रियों के उनके क्षेत्र के हिसाब से भोजन परोसा जाना चाहिए.

इस समिति ने कहा, ‘‘अगर एयर इंडिया का निजीकरण होता है तो इसका हज सेवा के परिचालन पर गंभीर प्रभाव पड़ेगा. भारतीय हज समिति और मंत्रालयों को इस बारे में विचार करना होगा और योजना बनानी होगी कि स्थिति आने पर इस चुनौती से कैसे निपटा जाए.’’

News Source: khabar.ndtv.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here